top of page

ऐसे पाए शनि देव की कृपा,शनि देव के साढ़े साती के अचूक उपाए।

शनि देव हिंदू पंथ में एक महत्वपूर्ण देवता हैं। वे नवग्रहों में से एक हैं और हिंदी ज्योतिष में उन्हें बहुत महत्व दिया जाता है। शनि देव को काला और बड़े धार्मिक दृष्टिकोण के साथ दिखाया जाता है। वे न्याय, धर्म और कर्म के प्रतीक माने जाते हैं।



शनि देव की पौराणिक कथाएं भी बहुत प्रसिद्ध हैं। वे सूर्य और चांद्रमा के पुत्र माने जाते हैं और उनकी पत्नी का नाम देवी शनैश्चरी है। शनि देव को भोले भक्त होते हैं, यानी वे जो कुछ भी आपके कर्मों का फल होता है, उसे देखते हैं और उसे न्यायानुसार बताते हैं। इसलिए शनि देव को भयंकर, कठिन, और सतर्क माना जाता है।

शनि देव की पूजा के लिए शनिवार को विशेष महत्व दिया जाता है। भक्त उनके मंदिरों में जाकर पूजा और अर्चना करते हैं और उनके चालीसा, मंत्र और आरती का पाठ करते हैं। उनकी कृपा प्राप्ति के लिए भक्त उनकी विशेष व्रत और उपासना का अनुसरण करते हैं। इससे शनि देव की क्रोध शांत होती है और उनकी कृपा से भक्त की सभी कठिनाइयों का नाश होता है।

शनि देव की आराधना मान्यताओं के अनुसार भारत के विभिन्न हिस्सों में की जाती है और उनके प्रतिमा और मंदिर काफी प्रमुख हैं। जैसे कि बिहार में दिल्ली के विश्वनाथ मंदिर, तेलंगाना के शनिसिंहपुर मंदिर, उत्तर प्रदेश के श्री शनिदेव मंदिर (जैन्टी), और राजस्थान के श्री शनिदेव मंदिर (जोधपुर) आदि।


शनि देवको प्रसन्न करने के लिए निम्नलिखित उपायों का अनुसरण किया जा सकता है:

  • शनि देव के मंदिर में जाएं: शनि देव के मंदिर में जाकर पूजा, अर्चना और ध्यान करें। शनिवार को शनि देव के मंदिर में जाने का विशेष महत्व है।

  • शनि देव की आराधना करें: शनि देव के लिए निर्धारित मंत्रों और चालीसा का पाठ करें। शनि चालीसा और शनि देव के मंत्रों का जाप करने से उनकी कृपा प्राप्ति हो सकती है।

  • शनि देव के व्रत रखें: शनिवार को शनि देव के व्रत रखें। इसमें आपको शनि देव की पूजा करनी, उनके व्रत की कथा सुननी और नियमित रूप से व्रत का पालन करना होगा।

  • शनि देव के धार्मिक यात्राओं में भाग लें: शनि देव के प्रसन्न होने के लिए उनकी धार्मिक यात्राओं में भाग लें। शनि देव के प्रमुख मंदिरों जैसे शिंगणापुर (महाराष्ट्रा), ठाकुरपुरी (दिल्ली), शनिसिंहपुर (तेलंगाना) आदि की यात्रा कर सकते हैं।

  • दान करें: शनि देव को प्रसन्न करने के लिए दान करें। आप गंगाजल, तिल, घी, ऊड़द दाल, काला कपड़ा आदि को दान कर सकते हैं।

  • कर्म को सुधारें: शनि देव को प्रसन्न करने का एक महत्वपूर्ण उपाय है अपने कर्मों को सुधारना। न्यायपूर्ण और ईमानदार आचरण करें, अपने कर्तव्यों को निभाएं और कर्मफल को स्वीकारें।


यदि आप शनि देव को प्रसन्न करना चाहते हैं, तो ध्यान दें कि ये उपाय आपके नियमितता, श्रद्धा और विश्वास के साथ किए जाएं। इसके अलावा, यदि आपको किसी ग्रहिक दोष या शनि की दशा की समस्या है, तो एक व्यक्तिगत ज्योतिषाचार्य से संपर्क करके सही मार्गदर्शन प्राप्त करना भी उपयोगी हो सकता है।

1 view0 comments

コメント


bottom of page