top of page

Chatur Mass 2023: जाने पवित्र चतुर्मास की अवधि,पूजा विधि,व्रत एवं उपाए।

चातुर्मास एक धार्मिक अवधि होती है और यह लगभग चार महीने की अवधि का होता है। यह मास भाद्रपद मास की एकादशी से कार्तिक मास की एकादशी तक चलता है। चार महीनों के दौरान, विशेषता से जुलाई, अगस्त, सितंबर, और अक्टूबर महीने शामिल होते हैं। इस अवधि में धार्मिक आचरण, व्रत, पूजा, पाठ, सत्संग और साधना का महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

चातुर्मास एक महत्वपूर्ण और पवित्र मासिक अवधि है जिसमें विशेष धार्मिक आचरण और व्रतों का पालन किया जाता है। इस समय विशेषता से अन्न दान, जल दान, वृक्षारोपण, पूजा-अर्चना, जप, ध्यान और साधना का महत्वपूर्ण भूमिका होती है। चातुर्मास के दौरान कुछ विशेष नियम और विधियां होती हैं जिनका पालन करना धार्मिक मान्यता में सुचारू रूप से किया जाता है। चातुर्मास की विशेषता यह है कि इस दौरान कुछ विशेष आहार एवं विहार के नियमों का पालन किया जाता है, जैसे कि मांस खाने से बचना, बाल काटने से बचना, नये कपड़े न पहनना, श्राद्ध आदि कार्य नहीं करना।

चातुर्मास एक धार्मिक आवधि होने के कारण, लोग इस दौरान ध्यान और नियमों का पालन करके अपने आचरण को शुद्ध और पवित्र बनाने का प्रयास करते हैं। इसलिए, चातुर्मास के दौरान किसी भी काम को भूलकर न करें ताकि आप धार्मिक आचरणों का पालन कर सकें और इस पवित्र मास में अपनी आध्यात्मिकता को विकसित कर सकें।


1 view0 comments

Kommentare


bottom of page